home page

सेंट जेवियर स्कूल के प्रिंसीपल की घिनौनी हरकत: सोशल मीडिया पर की हिंदुओं की भावनाओं को भडक़ाने वाली पोस्ट

विरोध करने पर शिक्षक को किया गया प्रताडि़त

 | 
Teacher was harassed for protesting

Newz World Hindi's, Sirsa
सिरसा। शहर के सेंट जेवियर सीनियर सैकेंडरी स्कूल में बतौर पीजीटी शारीरिक शिक्षक कार्यरत अनिल कुमार ने स्कूल के प्रिंसीपल फादर सेल्वाराज पीटर द्वारा सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री से लेकर उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ सहित हिन्दू संतों व हिंदुओं के खिलाफ शेयर की गई टिप्पणियों से आहत होकर पुलिस को एक शिकायत दी है। पुलिस को दिए बयानों में अनिल कुमार ने बताया कि उपरोक्त प्रिंसिपल ने नवंबर-2022 में स्कूल में पदभार संभाला था। प्रिंसिपल का मोबाइल नंबर फेसबुक पर दर्ज होने के कारण मुझे फेसबुक फ्रेंड सजेशन मिला। उसने प्रिंसिपल की प्रोफाइल सगया सेल्वम के नाम से देखी। जब उसने प्रिंसीपल की प्रोफाइल चैक की तो हिंदू साधु, राजनेता, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ  उनके कई पोस्ट मिले। फादर सेल्वराज पीटर ने हिंदू भिक्षु योगी आदित्यनाथ का मजाक उड़ाते हुए कई पोस्ट किए हैं।

प्रिंसिपल हिंदू संतों की ऐसी पोस्ट शेयर कर हिंदू आस्था का मजाक उड़ाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने अपने विभिन्न फेसबुक पोस्ट में कई हिंदू संतों पर निशाना साधा है। उन्होंने ब्राह्मणों, आरएसएस, गौ माता पर निशाना साधते हुए पोस्ट शेयर किए हैं और थंबनेल और डबल मीनिंग वीडियो पर सेक्सए फक्श, लस्ट, हॉट बॉडी जैसे शब्दों वाले पोस्ट शेयर किए हैं, जोकि छात्र-छात्राओं के लिए बहुत संवेदनशील है। वह अपने सोशल मीडिया पर एक पुजारी और एक प्रिंसिपल की मर्यादा को ताक पर रखकर इस तरह के अश्लील पोस्ट शेयर कर रहे हैं। उन्होंने कुछ मुस्लिम राजनेताओं द्वारा मंदिरों को निशाना बनाने वाला नफरत भरा वीडियो शेयर किया है। यह बिल्कुल साफ  है कि वह हिंदू समुदाय और हिंदू समुदाय से जुड़े लोगों को निशाना बना रहे हैं। उन्होंने डेरा सच्चा सौदा सिरसा के प्रमुख राम रहीम से जुड़े बहुत से पोस्ट शेयर किए हैं। चूंकि सिरसा अति संवेदनशील क्षेत्र है, इसलिए फादर सेल्वराज पीटर स्वयं ईसाई समुदाय के प्रतिनिधि हैं।

इस प्रकार ऐसी हरकतें करके वह डेरा सच्चा सौदा सिरसा के अनुयायियों की भावनाओं को भी ठेस पहुंचा रहा है।  प्रिंसिपल का ऐसा गैर-जिम्मेदाराना रवैया और व्यवहार सांप्रदायिक हिंसा का कारण बन सकता है। वहीं उनके द्वारा शेयर की गई अत्याधिक आपत्तिजनक पोस्ट के कारण छात्र-छात्राओं तक क्या संदेश जाऐगा। जब उसने सेल्वराज पीटर से इन सभी बातों के बारे में पूछा और उनसे इस पर गौर करने और अपनी प्रोफाइल को निजता के रूप में लॉक करने या ऐसी पोस्ट डिलीट करने का अनुरोध किया तो वह क्रोधित हो गए और मुझ पर चिल्लाए और कहा कि मुझे फादर रेमी द्वारा नियुक्त किया गया है।

सिरसा में मैं तुम्हें, तुम्हारे तथाकथित बाबाओं के पास भेजने के लिए ही भेजा गया हूं। तभी से वह उसे परेशान कर रहा है। यही नहीं एक महीने का नोटिस देकर गैरकानूनी तरीके से मेरी सेवाएं भी समाप्त कर दी थी। उसने अदालत में शिकायत दर्ज की और मेरी बर्खास्तगी को अदालत ने गलत बताते हुए मुझे बहाल कर दिया था। सेल्वराज पीटर इसमें गलत पाया गया था। अनिल कुमार ने पुलिस व स्थानीय प्रशासन से गुहार लगाई कि इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच कर आगामी कार्रवाई की जा