home page

सार्वजनिक स्थानों पर देवी-देवताओं के पोस्टर चिपकाने पर लगेगा Ban

दिल्ली HC ने जनहित याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा 
 | 
delhi court

 
Court News: याचिकाकर्ता ने कोर्ट में कहा कि दीवारों पर भगवान की तस्वीरें चिपकाने से आम जनता की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंच रही है
Newz World Hindi's, New Delhi । 
Delhi HighCourt News: दिल्ली हाईकोर्ट ने आदेश दिये तो जल्द ही सार्वजनिक जगहों पर दीवारों पर हिंदू देवी देवताओं के पोस्टर फोटो लगाने पर प्रतिबंध लग सकता है। अक्सर देखा जाता है कि लोग सार्वजनिक रूप से पेशाब करने, थूकने और कूड़ा फेंकने से रोकने के लिए दीवारों पर भगवान की तस्वीरें, पोस्टर चस्पा देते हैं। इस प्रथा के खिलाफ एक वकील की ओर से दायर याचिका पर कोर्ट में दलीलें सुनीं।  दिल्ली कोर्ट ने अपना आदेश सुरक्षित रख लिया। मुख्य न्यायाधीश सतीश चंद्र शर्मा और न्यायमूर्ति सुब्रमण्यम प्रसाद Chief Justice Satish Chandra Sharma and Justice Subramaniam Prasad ने याचिका कोर्ट ने कहा कि वह याचिका के संबंध में उचित आदेश पारित करेंगे। 


अधिवक्ता गोरंग गुप्ता की ओर से दायर जनहित याचिका (PIL) में आरोप लगाया गया है कि लोग सार्वजनिक जगहों पर पेशाब करने से रोकने के लिए देवताओं की छवियों का उपयोग साधन के रूप में कर रहे हैं। इससे बड़े पैमाने पर लोगों की धार्मिक भावनाओं को नुकसान पहुंचाया जा रहा है। जनहित याचिका में यह भी कहा गया है कि सार्वजनिक पेशाब और गंदगी पवित्र देवता की छवियों की पवित्रता को गंभीर रूप से बदनाम और अपमानित करती है।

दीवारों पर देवताओं के पोस्टर पर लगाने पर प्रतिबंध की मांग
वकील ने अदालत COurt  से आप सरकार नई दिल्ली नगरपालिका परिषद दिल्ली छावनी बोर्ड और दिल्ली नगर निगम को दीवारों पर देवताओं के पोस्टर चिपकाने पर प्रतिबंध लगाने के लिए निर्देश देने की मांग की है( खुले में पेशाब करने थूकने और कूड़ा फेंकने से रोकने के लिए दीवारों पर देवी-देवताओं की तस्वीरें लगाने की आम प्रथा ने समाज में एक गंभीर खतरा पैदा कर दिया है।

जनता की धार्मिक भावनाओं को पहुंच रही है ठेस 
याचिकाकर्ता वकील ने दावा किया कि यह अधिनियम भारतीय दंड संहिता 1860 की धारा 295, 295ए के साथ-साथ भारत के संविधान के अनुच्छेद 25 का उल्लंघन है. जिससे आम जनता की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंच रही है. 
Tags:
#PIL
#advocate
#DelhI High Court
#Plea in HC